महानतागिरी

भूख है तो सब्र कर रोटी नहीं तो क्या हुआ
आजकल दिल्ली में है ज़ेर-ए-बहस ये मुदद्आ
….सोशल मीडिया पर फ़ौजियों के दर्द भरे नाले सुन कर दुष्यंत कुमार का यह शेर बेसाख़्ता याद आया । आइए आज सैनिकों के हालात पर ही बात कर लें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

RELATED POST

गाय के कुपूत

रवि अरोड़ाहालांकि इस तरह का कोई सर्वे आज तक नहीं हुआ कि सर्वाधिक पाखंडी किस धर्म के लोग हैं मगर…

चलो किसी बहाने हिल्ले तो लगे

रवि अरोड़ाजिसने भी किया है, अच्छा नहीं किया । भला क्या जरूरत थी विधायकों के विधानसभा में तम्बाकू खाने और…

थोड़ी थोड़ी पिया करो

रवि अरोड़ाशायद साल 1995 की बात है। नवरंग सिनेमा हॉल में पंजाबी बिरादरी के एक कार्यक्रम में मशहूर आईपीएस अफसर…

अथ श्री चीता कथा

रवि अरोड़ावाकई मोदी जी तुसी ग्रेट हो। देखो न सारे मुल्क को काम पर लगा दिया। जिसे देखो वही अब…