जीत तो जीत ही होती है

एनडीटीवी के प्रसारण पर एक दिन के बैन का आदेश आख़िरकार केंद्र सरकार को वापिस लेना पड़ा । मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुँच गया था और सरकारी आदेश पर रोक के आसार वहाँ बन गए थे । एसे में अपनी किरकिरी से बचने को सरकार ने यह क़दम उठाया । ज़ाहिर है कि यह जीत एनडीटीवी के खाते में ही डाली जाएगी मगर इसमें भी कोई दो राय नहीं कि जीत पूरे मीडिया जगत की हुई है । इस मामले में देश भर के मीडिया कर्मियों ने एनडीटीवी के पक्ष में जो एकजुटता दिखाई थी, असर उसका भी हुआ । …एनडीटीवी के बहाने मोदी सरकार ने मीडिया पर लगाम लगाने का एक प्रयोग किया था जो असफल हुआ । उम्मीद है कि सरकार इससे सबक़ लेगी और दुबारा अपनी छीछालेदर कराने से बचेगी । …बेशक मीडिया जगत के लिए यह ख़ुशी का अवसर है मगर अब उसे आत्मविश्लेषण भी करना होगा ताकि भविष्य में सरकार को एसा कुछ करने का अवसर ही ना मिले । …बहरहाल जीत तो हुई ही है । बेशक यह छोटी सी लगती है मगर जीत तो जीत ही होती है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RELATED POST

ठहरे हुए लोग

रवि अरोड़ाबचपन से ही माता पिता के साथ गुरुद्वारों में माथा टेकने जाता रहा हूं । गुरुद्वारा परिसर में किसी…

मुंह किधर है

रवि अरोड़ाआज सुबह व्हाट्स एप पर किसी ने मैसेज भेजा कि हिंदुओं बाबा का ढाबा तो तुमने प्रचार करके चला…

जहां जा रही है दुनिया

रवि अरोड़ामैने सन 1978 में एम एम एच कॉलेज में एडमिशन लिया था । पता चला कि कॉलेज में एक…

देखो एक नदी जा रही है

रवि अरोड़ासोशल मीडिया पर सुबह से डॉटर्स डे के मैसेज छाए हुए हैं । इन मैसेज के बीच हौले से…