जयक़ारा नरेंद्र मोदी का

रवि अरोड़ा

पता नहीं क्यों आज आपको एक चुटकुला सुनाने को मन कर रहा है । एक बार जंगल के चुनावों में चालाक और गपौड़ी बंदर जीत गया और राजा भी बन गया । सारे फ़ैसले वह अपने गप्प हाँकने के हुनर से से ही करता । एक बार एक बकरी उसके दरबार में आई और उसने बताया कि उसका बच्चा कहीं गुम हो गया है । बकरी ने मदद के लिए बंदर से गुहार लगाई । अब बंदर तो ठहरा बंदर । उसने एक पेड़ से दूसरे और दूसरे से तीसरे चौथे पेड़ पर कूद फाँद शुरू कर दी । कई घंटे जब बीत गए तो बकरी ने पुनः अपने बच्चे को ढूँढने की अपील की । इस पर राजा बंदर बोला कि तेरा बच्चा नहीं मिला यह बात तो ठीक है मगर मेरी भाग दौड़ में कोई कमी रह गई हो तो बता । यहाँ स्पष्ट कर दूँ कि यह चुटकुला मैंने मोदी सरकार पर क़तई नहीं सुनाया है । हालाँकि मैं जानता हूँ कि मेरा पिछला रिकॉर्ड देखते हुए आप इसे मोदी जी से ही जोड़कर देखेंगे । अब इसमें मैं क्या कर सकता हूँ । मैं तो बस इतना जानता हूँ कि मैं सिर से पाँव तक मोदी जी का भक्त हूँ । मुझ जैसों का ट्रौल करने वाले भक्तों से भी बड़ा भक्त । हाँ यह बात और है कि मेरी भक्ति के कारण कुछ और ही हैं । मैं तो मोदी जी कि इस अदा पर फ़िदा हूँ कि क्लीन बोल्ड , हिट विकिट , रन आउट और बार बार कैच पकड़े जाने के बावजूद वह क्रीज़ पर इतने आत्मविश्वास से कैसे डटे हुए हैं ? ख़ास बात यह है कि हर बार एम्पायर की आँखें बंद क्यों हो जाती हैं ? यक़ीन जानिए मैं तो मन से यह भी चाहता हूँ कि मोदी जी के बारे में मैनेजमेंट की कक्षाओं में भी पढ़ाया जाए और छात्रों को सिखाया जाय कि मोदी नियम के अनुसार सौ बार बोला गया झूठ स्वतः सत्य कैसे हो जाता है । ग़लत को सही और सही को ग़लत , झूठ को सत्य और सत्य को झूठ भी इसी नियम के अनुरूप कैसे किया जाता है , यह भी आने वाली पीढ़ियों को बताया जाना चाहिए ।

हाल ही में कई बुरी ख़बरें आईं मगर मोदी नियम का हुनर यहाँ भी प्रतिपादित हुआ । आरबीआई ने माना कि नोटबंदी के बाद हज़ार और पाँच सौ के 99 फ़ीसदी नोट बैंकों में लौट आए हैं । इसी नियम के अनुरूप पायजामा ग़लत कटने पर उसे कच्छा बनाया गया और फिर बढ़ चढ़ कर कच्छे के फ़ायदे भी गिनाए गए । नोटबंदी से जीडीपी मुँह के बल नीचे गिरी और अरबों रुपयों की मुल्क को चोट लगी मगर मोदी का सिद्धांत यहाँ भी काम आया और अब देश मान चुका है कि देश नोटबंदी और जीएसटी के चलते दीर्घक़ालीन लाभों की ओर बढ़ रहा है । एनिमेस्टी इंटरनेशनल कह रहा है कि हम सबसे बड़े भ्रष्ट मुल्क हैं मगर मोदी जी ने जनता जनार्दन को घुट्टी पिला दी है कि देश अब भ्रष्टाचार से मुक्त हो गया है । कांग्रेस के राज में आधार , नोटबंदी , मनरेगा और जीएसटी जैसी योजनाएँ देश के लिए पाप थीं मगर अब उन्हें भी गंगा जल से धो कर मोदी जी ने ही पवित्र कर दिया है । योजनाएँ ही नहीं सरदार पटेल को भी कांग्रेसी खेमे से लाकर मोदी जी ने संघी कर दिखाया है । आप ही बताइए , जो कहो वह करो नहीं और जो नहीं कहो वही करो और भक्तों की भीड़ फिर भी कम ना हो , यह कला मोदी जी के अतिरिक्त भला देश में और कौन जानता है ? मीडिया ख़त्म , विपक्ष ख़त्म और तो और पार्टी भी ख़त्म । लाइन मोदी, शाह , जेटली और गड़करी की चौकड़ी से शुरू और वहीं पर ख़त्म । अब बताइए एसे में मेरे जैसे चमत्कारप्रिय लोग मोदी जी के भक्त कैसे ना हों ? तो आइए आप भी मेरे साथ कहिए- जयकारा नरेंद्र मोदी का , बोल गपौड़ी महाराज की जय ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RELATED POST

ठहरे हुए लोग

रवि अरोड़ाबचपन से ही माता पिता के साथ गुरुद्वारों में माथा टेकने जाता रहा हूं । गुरुद्वारा परिसर में किसी…

मुंह किधर है

रवि अरोड़ाआज सुबह व्हाट्स एप पर किसी ने मैसेज भेजा कि हिंदुओं बाबा का ढाबा तो तुमने प्रचार करके चला…

जहां जा रही है दुनिया

रवि अरोड़ामैने सन 1978 में एम एम एच कॉलेज में एडमिशन लिया था । पता चला कि कॉलेज में एक…

देखो एक नदी जा रही है

रवि अरोड़ासोशल मीडिया पर सुबह से डॉटर्स डे के मैसेज छाए हुए हैं । इन मैसेज के बीच हौले से…